पढ़ाई में मन कैसे लगाए | Padhai Me Man Kaise Lagaye [जिंदगी बदल जाएगी]

Padhai me man kaise lagaye– तो दोस्तों आज हम काफी जरूरी और दिलचस्प मुद्दे के ऊपर बात करने जा रहे हैं जैसे कि हम में से काफी ज्यादा छात्रों को यह दिक्कत आती है की उनका पढ़ाई में मन नहीं लगता और वह है यही सोचते रहते हैं कि पढ़ाई में मन कैसे लगाएं।

यदि आप भी सोच रहे हैं पढ़ाई में मन कैसे लगाएं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं आपको आज “Padhai Me Man Kaise Lagaye” समस्या का पूरा समाधान मिलने वाला है बस आपको धैर्य के साथ यह लेख पढ़ना होगा और इसमें दिए गए टिप्स को फॉलो करना होगा ऐसा करने से आपका पढ़ाई में मन लगने लगेगा और आप काफी अच्छा स्कोर कर पाएंगे।

Padhai Me Man Kaise Lagaye
Padhai Me Man Kaise Lagaye

पढ़ाई मे मन कैसे लगाए जाने से पहले आपको यह जानना बहुत आवश्यक है कि आपका पढ़ाई में मन क्यों नहीं लगता इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं और आपको वह कारण जाने बहुत ही जरूरी हैं यदि वह कारण आप नहीं जानेंगे तो आपको समझ में नहीं आएगा कि आपको कौनसा कदम उठाना चाहिए ताकि आपका पढ़ाई में मन लगने लगे।

पढ़ाई में मन न लगने के मुख्य कारण

यहां पर मैंने आपको पढ़ाई में मन ना लगने के कुछ मुख्य कारण बताए हुए हैं और यदि आप इसे विस्तार से जानना चाहते हैं तो इसके लिए मैंने एक अलग लेख “मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं” लिखा हुआ है आप उसे पढ़ लीजिए आपके सारे डाउट क्लियर हो जाएंगे तो आइए अब हम जानते हैं पढ़ाई में मन ना लगने के कुछ मुख्य कारणों के बारे में।

किसी विषय का कमजोर होना

यदि आप किसी विषय में कमजोर है मतलब आपको कोई विषय ऐसा है जो जल्दी समझ में नहीं आता है या आपकी उसमें दिलचस्पी नहीं है तो इस कारण से हो सकता है आप उस विषय में अच्छे मार्क्स स्कोर ना कर पाते हो और आपका पढ़ाई में मन ना लगता हो।

You may also read-
Facebook VIP Photo
Mera padhai me man kyu nhi lagta
Sangya ki paribhasha

यदि आप अभी दसवीं का उससे नीचे वाली कक्षा पर है और आपको कोई विषय समझ में नहीं आ रहा है तो इसमें ज्यादा घबराने वाली बात नहीं है क्योंकि आप अपना विषय 11 वीं में बदल सकते हैं।

लेकिन अगर आपको 11 वीं के या 12 वीं पर किसी विषय में दिलचस्पी नहीं है और वह आपने चुन लिया है तो यह आपके लिए बहुत बड़ी मुसीबत बन सकता है इसके बारे में हम अगले पॉइंट में बात करने वाले है।

रिलेशनशिप या क्रश होना

आज के माहोल में ज्यादातर बच्चे रिलेशनशिप में फस जाते हैं और उनमें से को तो इतने छोटे होते हैं की उन्हें रिलेशनशिप के बारे में सही से पता भी नही होता।

यदि आप भी रिलेशनशिप में है या आपकी / आपका कोई क्रश है तो हो सकता है आपका ध्यान बस उसी की तरफ रहता हो और पढ़ाई के वक्त भी उसी की याद आती हो जैसे वर्षों से नहीं मिले 🤣 चलिए मजाक को साइड में रखकर बात करते है।

यदि आपका पढ़ाई में मन ना लगने का कारण यही है तो आज की पोस्ट में मैं आपको इसका भी उपाय बताने बाला हूं आप धैर्य के साथ आर्टिकल पढ़ते जाइए।

गलत लोगो से दोस्ती होना

कुछ बच्चो का मन पढ़ाई में दोस्तों के कारण नही लगता क्योंकि वो येंसी संघात में जा चुके है जहा उनके लिए पढ़ाई की कोई कद्र नहीं है और न ही वो अपने भविष्य को लेकर सीरियस है। यदि आपके दोस्त भी पढ़ाई को लेकर सीरियस नहीं हैं तो आपको उनसे दूर होना होगा मेरा कहने का यह मतलब बिलकुल नहीं है की आप उनसे लड़ाई करें मगर आपको उनकी संघत से बचना होगा।

अब तक हमने जाना है पढाई में मन क्यों नहीं लगता आइये अब समझते हैं “padhai me man kaise lagayeपढाई में मन कैसे लगाये

पढाई में मन कैसे लगाये (Padhai Me Man Kaise Lagaye)

Padhai me man kaise lagaye– तो दोस्तों पढ़ाई में मन लगाने के आपको कुछ टिप्स को अच्छी तरह से फॉलो करना होगा इससे आपका पढाई में मन लगने लगेगा।

पढाई को दैनिक कार्य ही समझें

पढ़ाई में मन लगाने के लिए आपको सबसे पहले तो पढाई को अपना दैनिक कार्य ही समझना होगा यदि आप पढाई को बोझ की तरह देखते हैं तो आपका पढाई में कभी भी मन नहीं लग सकता तो याद रखें पढाई भी आपका दैनिक कार्य ही है।

जिस प्रकार आप सुबह उठकर ब्रश करते हैं उसी प्रकार पढाई करना भी जरूरी है इसे आपको अपने डिचारिये में जोड़ना होगा और नियमित रूप से पढ़ने की आदत डालनी होगी यदि आप नियमित रूप से एक या दो महीने तक पढाई करते हैं तो आपको इसकी आदत लग जाएगी और फिर आपको पढाई करने में आलस नहीं आएगी।

खुद पर भरोसा रखें

कुछ बच्चों को खुद पर ही कॉन्फिडेंस नहीं होता की वो कर सकते हैं उनका कहना रहता है की Math उन्हें समझ नहीं आती, Physics उन्हें समझ नहीं आती या पढाई उनसे नहीं की जाती तो यह सब आपके आत्मबिश्वाश की कमी के कारन होता है यदि आप आत्म विश्वास रखते हैं तो आपको कोई विषय कठिन नहीं लगता।

यदि आपके साथ भी एनसी ही समस्या है तो आपको सबसे पहले तो उस विषय से डरना छोड़ना होगा जो आपको समझ नहींआता इसके बाद यदि आपको कोई भी छोटी से छोटी चीज़ समझ नहीं आती तो आप उसे टीचर या टूशन टीचर से पूछने में बिलकुल भी सकोच न करें इससे आपका बेस मजबूत होगा।

padhai me man kaise lagaye

यदि आप यह सोचेंगे की इतनी छोटी चीज पूछने से आपकी बेज़्ज़ती हो जाएगी बच्चे आपके बारे में क्या सोचेंगे तो आप आगे उस विषय को अच्छी तरह से नहीं समझ पाएंगे क्युकी आपको उस विषय के बेसिक्स ही नहीं पता होंगे।

इसलिए कभी भी ज्ञान लेने में शर्म नहीं करनी चाहिए और ज्ञान कही से भी मिले ले लेना चहिये यदि आपको अब भी सकुचाहट होती है तो आप उस विषय को गूगल या यूट्यूब में सर्च करके समझिये इससे किसी कोपता भी नहीं चलेगा आपको क्या आता है क्या नहीं और आपको शर्मिदगी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

45 मिनट से ज्यादा एक समय में न पढ़े

अगर आप अपनी दिनचर्या में एक बार में 45 मिनट से ऊपर पढ़ने का प्लान बना रहे हैं तो अभी रुक जाइये क्यूंकि एक बार में आप लगभग 45 मिनट ही अपने पूरे कंसंट्रेशन के साथ पढ़ पायेंगे उसके बाद आप ऊब जाएंगे या थक जाएंगे इसीलिए आपको हमेशा एक साथ 45 मिनट से ज्यादा नहीं पढ़ना चाहिए।

आपने अक्सर देखना होगा स्कूल का एक पीरियड 45 मिनट से ज्यादा का नहीं होता है क्यूंकि उन्हें इस बात के बारे में पता है। यदि आपका ज्यादा से ज्यादा पढाई करना बहुत जरूरी हो मतलब मान लीजिये कल आपका एग्जाम है तो आपको 45 मिनट से ज्यादा पढ़ना ही होगा लेकिन दोस्तों आप 45 मिनट पढ़कर दस या पंद्रह मिनट का ब्रेक लेकर फिर पढ़ सकते हैं।

ऐसा करने से आप ज्यादा से ज्यादा पढ़ाई कर पाएंगे बिना किसी आलस के आपको यह तरीका कैसा लगा हमें कमेंट के जरिये जरूर बताएं।

FAQ- Padhai Me Man Kaise Lagaye

पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित कैसे करें?

यदि आपका पढाई में धयान केंद्रित काटना चाहते हैं मगर नहीं हो रहा है तो यह सलाह आपके लिए है आपको अपना पढाई के लिए अलग कमरा बनाना होगा यदि आप उस कमरे से पढाई करते हैं जहाँ पर सब लोग ज्यादातर रहते हैं और हो सकता है टेलीविज़न भी चलता रहता हो तो आपका आसानी से पढाई में मन नहीं लगेगा।

पढ़ाई में मन क्यों नहीं लगता है?

पढ़ाई में मन न लगने के कई कारण हो सकते हैं जिनमे से सबदे सामान्य कारण यी हैं।
1. किसी विषय का कमजोर होना
2. रिलेशनशिप या क्रश होना
3. गलत लोगो से दोस्ती होना

रात में कितने बजे तक पढ़ना चाहिए?

रात में आप जब तक मन चाहे पढ़ सकते हैं इसमें कोई भी दिक्कत नहीं है मगर आपको यह सुनिश्चित करना होगा आप सही से नींद ले रहे हैं या नहीं।

एक दिन में कितने घंटे पढ़ना चाहिए?

एक दिन में जितना चाहे आप कितने घंटे पढ़ सकते हैं इसमें आपका ही फायदा होगा मगर इसके साथ साथ आपको अपनी सेहत की भी ख्याल रखना होगा।

Tags:- padhai me man kaise lagaye

1 thought on “पढ़ाई में मन कैसे लगाए | Padhai Me Man Kaise Lagaye [जिंदगी बदल जाएगी]”

Leave a Comment